About

ज़हन में मौजूद ख़्यालात और मुल्क और दुनिया के मौजूदा हालात को मज़ामीन, कहानियों और शेर-ओ-शायरी के ज़रिये ज़ाहिर करने की कोशिश का नाम है ''सिफ़रनामा''।
यहाँ आप पढ़ सकते हैं मुख़्तलिफ़ मौज़ूआत पर लिखे मेरे मज़ामीन (Article), ख़्यालात, कहानियाँ, शेर-ओ-शायरी, किताबों पे तब्सरे (Book Review) और भी बहुत कुछ।  
उम्मीद है आपको ये कोशिश पसंद आएगी।  शुक्रिया
शहाब खान 'सिफ़र'